SEO क्या है सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन 2021

SEO क्या है सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन 2021 


SEO क्या है  ?  क्या आपको पता है और ये blog के लिए क्यों जरुरी है अगर पता नहीं है तो ये आर्टिकल खास आपके लिए है इसमें आपको स्टेप बाई स्टेप SEO की बेसिक और सम्पूर्ण जानकारी आसान शब्दों मे उपलब्ध है जिससे नए ब्लॉगर को भी आसानी से समझ आ सके 


अक्सर देखा जाता है की बहुत से नए Blogger को ये सवाल बहुत परेशान करता है की SEO क्या है 


अगर आप लोगो तक अपनी बात पहुंचना चाहते हो या करोडो लोगो के बीच अपनी एक पहचान बनाना चाहते हो तो एक ही प्लेटफार्म है online 


आप चाहे content के द्वारा या youtube जैसे और अन्य प्लेटफार्म  के जरिये लोगो तक बात पंहुचा सकते हो इसके लिए आपको seo करना बहुत ही जरुरी है 


Google search engine या किसी अन्य search engines के first page पर बने रहना कोई आसान काम नहीं है क्यूंकि यही वो pages हैं जिन्हें visitors ज्यादा पसंद करते हैं और trust भी करते हैं


पहला आपको आर्टिकल का बढ़िया ढंग से seo करना उनको optimize करना ताकि वो search engine मे first page पर बने रहे 


आप कितनी भी मेहनत से आर्टिकल लिखो पर आपका आर्टिकल ठीक तरह से optimize और rank नहीं हुआ तो उसमे ट्रैफिक आने की तो बात ही नहीं आती आपकी मेहनत सब बेकार हो जाएगी 


इसलिए आपको blog पर Traffic  लाना है और first page पर आना है तो फिर आपको SEO मे बारे मे सम्पूर्ण जानकारी होनी ही चाहिए 


SEO,  google algorithms के ऊपर आधारित है जिसमे समय-समय पर जरुरत के हिसाब से कुछ न कुछ अपडेट होते रहते है इससे आपको market में चल रहे trends के बारे में पता होगा जिससे आप भी अपने articles में जरुरी बदलाव ला सकते हैं जो की बाद में आपको rank करने में मदद करेंगी.


लोग प्रत्येक दिन कितने blog post प्रकाशित करते हैं।

क्या आपको इसके बारे में पता है

ठीक है,


 अकेले wordpress user हर दिन 2 मिलियन से अधिक post प्रकाशित करते हैं। जो हर सेकंड में 24 blog post  पर आता है।


और वह केवल wordpress user यूजर की गिनती है। यदि हम सभी ब्लॉग पोस्टों को गिनते हैं, तो निश्चित रूप से यह संख्या अधिक होगी।


इसलिए आपको सर्च इंजन के पहले पेज पर आना मुश्किल काम है लेकिन असम्भव नहीं है आपको अपने ब्लॉग को सफल बनाना है।


जब आप कोई article लिखते हैं तो प्रत्येक पोस्ट को optimize करने में आपको दस मिनट तो देना ही चाहिए। जो आसानी से सबसे important काम  है।


किसी भी दिन, लोग 2.2 मिलियन से अधिक सर्च करते हैं। और यह केवल Google पर है - अन्य search engine  में से कुछ भी नहीं कहने के लिए।


पिछले आर्टिकल में हमने जाना था seo friendly blog post कैसे लिखते है जो blog के आर्टिकल को rank कराने मे बहुत मदद करती है 


Search engines के first page पर अपने आर्टिकल को हमेशा rank करने के लिए SEO बहुत ही जरुरी है आज हम जानेगे की सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है और ये Blog के लिए क्यों जरुरी  है?




विषय - वस्तु :- 


1. SEO का फुल फॉर्म 

2. SEO क्या है -  ( परिभाषा )

3. SEO begginers guide  - बेसिक जानकारी 

4. SEO कैसे काम करता है 

5. SEO, blog के लिए क्यों जरुरी है 

6. SEO के प्रकार  ( Types of SEO )

7. SEO मार्केटिंग के लिए क्यों जरुरी है 

8. SEO Techniques ( white Hat SEO vs Black Hat SEO )

9. SEO नए ब्लॉगर के लिए

10. 2021 मे SEO Trends 

11.आज आपने क्या सीखा 


SEO का फुल फॉर्म :- 

   •    Search Engine Optimization  

   •      सर्च  इंजन ऑप्टिमाइजेशन 


SEO क्या हैं  - ( परिभाषा )

SEO का मतलब सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन है, जो कि organic search engine result जरिए आपकी वेबसाइट पर Traffic की मात्रा बढ़ाने का अभ्यास है


सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (SEO ) आपकी ऑफ़लाइन कंटेंट के optimize की प्रक्रिया है, इसलिए एक सर्च इंजन एक निश्चित कीवर्ड की खोज के लिए इसे एक शीर्ष परिणाम के रूप में दिखाना पसंद करते हैं। SEO के द्वारा हम अपने पेज को किसी भी सर्च इंजन के टॉप पेज मे ला सकते हैं 

Google पूरी दुनिया का सबसे पॉपुलर सर्च इंजन हैं 

उदाहरण के लिए आपने Google मे जाकर कोई keyword " blogging क्या हैं " सर्च किया तो उस कीवर्ड से रिलेशन जितने भी आर्टिकल हैं वह सब google दिखाता हैं ये आर्टिकल सब अलग-अलग blog से आते हैं 


जो आर्टिकल no. 1 पर rank करता हैं इसका मलतब की उस आर्टिकल मे बहुत ही सही तरीके से SEO किया गया हैं इसलिए SEO करना बहुत जरुरी हैं 


No. 1 rank होने पर आपके blog का DA और PA भी अच्छा होगा ज्यादा visitors site पर विजिट करेंगे  अच्छा traffic आने की संभावना भी बढ़ जाएगी इसके चलते आप अच्छी income generate कर सकते हैं खास बात तो ये हैं आपके site पर search engine से ज्यादा organic traffic आएगा 


( blogging kya hai keyword और top pages  )






  >  SEO Friendly Blog Post कैसे लिखें


  >  H1 टैग के लिए एसईओ कितना महत्वपूर्ण है?


  >  फ्री ब्लॉग कैसे बनाये - हिंदी में जानें


SEO begginers guide - बेसिक जानकारी 


अगर आपके पास अच्छे कंटेंट नहीं हैं तो फिर seo कोई मायने नहीं रखता मलतब की आप पहले से पूरी की गई मूलभूत आवश्यकताओं ( content )को सुनिश्चित किए बिना शीर्ष पर जरूरतों (SEO) को प्राप्त नहीं कर सकते। 


यहाँ पिरामिड मे प्रत्येक step को बताया हैं 


एक अच्छे SEO की नींव Crawl accessibility सुनिश्चित करने के साथ शुरू होती है, और वहां से आगे बढ़ती है।


इस SEO begginers guide का उपयोग करके, हम सफल SEO के लिए इन सात चरणों का पालन कर सकते हैं:




 1. Crawl accessibility  ताकि search engine आपकी वेबसाइट को पढ़ सकें


 2.  Compelling content जो searcher's की query का जवाब देती है


 3.  Keyword searcher's और इंजनों को आकर्षित करने के लिए optimize करना 


 4. Fast Load speed और compelling UX सहित अच्छा users अनुभव


 5.  Shareable content जो लिंक, उद्धरण और प्रवर्धन कमाती है


 6. Title , URL, और description जो ranking में उच्च CTR आकर्षित करने के लिए 


 7. SERPs में बाहर निकलने के लिए स्निपेट / स्कीमा मार्कअप


ये 7 step हैं जिनको अच्छे से यूज़ कर हम blog मे सही तरिके से SEO कर सकते है और content को search engine के first page पर ला सकते हैं जिससे एक अच्छा traffic build कर सकते हैं 


SEO कैसे काम करता है  ?


आप एक seach engine के बारे में सोच सकते हैं एक वेबसाइट के रूप में आप एक बॉक्स में एक प्रश्न टाइप करते हैं (या बोलते हैं) कुछ भी search करते हैं और Google, yahoo !, बिंग, या जो भी search engines हो आप वह वेबपृष्ठों के link की लंबी सूची के साथ है संभावित रूप से आपके प्रश्न का उत्तर दे सकता है।


 Google (या आपके द्वारा उपयोग किए जा रहे किसी भी सर्च इंजन ) में एक crawler है जो बाहर जाता है और उन सभी Contents के बारे में जानकारी इकट्ठा करता है जो वे Internet पर पा सकते हैं। crawler इंडेक्स बनाने के लिए उन सभी 1s और 0s को सर्च इंजन में वापस लाते हैं। उन जानकारी को तब एक एल्गोरिथ्म के माध्यम से उपयोग किया जाता है जो आपकी Query ( सर्च )के साथ उस सभी same कंटेंट को rank के अनुसार index करता हैं 


यह SEO का सभी SE (सर्च इंजन) इस प्रकार हैं 


1. डोमेन लेवल लिंक -  अथॉरिटी फीचर 20.94%

2. पेज लेवल लिंक फीचर  19.15%

3. पेज लेवल kw और कंटेंट्स फीचर 14.94%

4. पेज लेवल कीवर्ड - अग्नोटिक्स फीचर 9.8%

5. डोमेन लेवल ब्रांड फीचर 8.54%

6. यूजर / यूसेज/ ट्रैफिक / query डेटा  8.06%

7. सोशल मैट्रिक्स  7.24%

8. डोमेन लेवल कीवर्ड usage  6.98%

9. डोमेन लेवल कीवर्ड अग्नोटिक्स फीचर  5.21%


SEO  का " O" हिस्सा - अनुकूलन ( Customization ) वह जगह है, जो लोग हैं जो उस सभी content को लिखते हैं और इसे अपनी साइटों पर डालते हैं, उस कंटेंट को प्राप्त कर रहे हैं और इतने सारे सर्च इंजन उन साइटों को समझ पाएंगे कि वे क्या देख रहे हैं, और जो user आते हैं सर्च के माध्यम से वे क्या देखते हैं पसंद करेंगे।


 Customization कई रूप ले सकता है। यह सुनिश्चित करने से सब कुछ है कि Title Tag और Meta Description दोनों जानकारीपूर्ण हैं 



SEO, blog के लिए क्यों जरुरी हैं ? 


इस बेसिक जानकारी के माध्यम से आपने जान लिया होगा की SEO क्या हैं तो अब जानते हैं की ये blog के लिए क्यूँ जरुरी हैं SEO के द्वारा आप अपनी वेबसाइट को लोगो तक पहुँचा सकते हो 



ऐसे नहीं के आपने SEO की बेसिक जानकारी पढ़ ली और आपको  रिजल्ट मिलेगा नहीं आपको SEO को सिख लेने के बाद उसका इस्तेमाल अपने blog मे करना हैं उसका result तुरंत नहीं दिखेगा इसके लिए आपको धैर्य रख कर अपना काम करते रहना होगा. 


मैं आपको पहले भी बता चुका हूँ की blogging मे आपको मेहनत करने और साथ ही धैर्य रखने की जरुरत हैं 


Seo, blog की organic traffic और ranking के लिए बहुत अच्छा टूल हैं मानो SEO, blog की आत्मा  हैं 


कोई भी user search engine का यूज़ अपने सवालों  का answer पाने के लिए करता हैं और वो search engine द्वारा दिखाए गए टॉप रिजल्ट को ही देखता हैं उस पर ज्यादा trust करता हैं ऐसे में अगर आप भी लोगों के सामने आना चाहते हैं तब आपको भी SEO की मदद लेनी होगी blog को rank करने के लिए. 


Users ज्यादातर top results पर ही  trust करते हैं और इससे उस website की trust बढ़ जाती है. इसलिए SEO के सन्दर्भ में जानना बहुत जरुरी होता है और blog के लिए भी SEO बहुत जरुरी हैं 


आप site का social promotion भी SEO के माध्यम से कर सकते हो  क्यूंकि जो लोग आपके site को google जैसे search engine में देखते हैं तब वो ज्यादातर उन्हें social media जैसे की Facebook, Twitter, Google+  में share जरुर करते हैं.


SEO के प्रकार ( Types oF SEO )


SEO के दो प्रकार होते हैं और दोनों का काम अलग-अलग होता हैं एक site के अंदर तो दूसरा साइट का social promotion आदि तो चलिए जानते हैं की दोनों को कैसे उपयोग करते हैं 

1. On page SEO
2. Off page SEO 
3. Local SEO 


On page SEO 


SEO के सबसे प्रसिद्ध प्रकारों में से एक प्रकार on page seo है इसका काम blog मे होता हैं साइट को SEO  friendly बनाना और अच्छे से डिज़ाइन करना 

Website के content मे अच्छे कीवर्ड यूज़ करना seo friendly template यूज़ करना 

On page seo मे keyword का कहाँ और कैसे इस्तेमाल करना, tilte, meta descripation, permalink, H1 tag आदि जिससे google का आसानी हो आप किस बारे मे लिख रहे हो ताकि google को उससे रिलेटेड query पर रिजल्ट दिखना और rank करना आसान हो 


On page seo कैसे करें 


On page seo के टूल, जिनका website मे अच्छे तरीके से प्रयोग कर सकते हैं 

1. Keyword 

आपको on page seo के लिए keyword search करके ही लिए आर्टिकल लिखना होगा ज्यादा long tail keyword का प्रयोग करें जो आसानी से rank हो important keyword को highlight करें ताकि users को आसानी हो की ये किस बारे मे हैं यहाँ संक्षेप में कीवर्ड का उल्लेख किया है लेकिन वे SEO के पावरहाउस हैं। उनके बिना, SEO मौजूद नहीं होगा इसलिए यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि आप कुछ भी करने से पहले यह समझ लें कि वे क्या हैं। आप सोच सकते हैं कि आप इन कीवर्ड को Reflect करने के लिए अपनी साइट से जो भी कीवर्ड चुनना चाहते हैं और Customized कर  सकते हैं।


2. H1 Tag ( heading )

Article लिखते समय heading का अच्छे से ध्यान रखे क्योंकि इसका seo पर बहुत असर पडता हैं आपका आर्टिकल किस बारे मे हैं वह heading (H1) होता हैं बाकि paragraph के आधार पर subheading ( H2, H3 ) होती हैं 

 आपकी वेबसाइट पर प्रति page केवल एक और H1 Tag होना आवश्यक है। यदि आप एक पृष्ठ पर कई H1 टैग का उपयोग करने का निर्णय लेते हैं तो यह आपकी ranking  को नकारात्मक रूप से प्रभावित कर सकता है। आपकी साइट के टेक्स्ट में एक H1 टैग पाया जा सकता है (H2 टैग या H3 टैग का उपयोग न करें। आपको प्रति पृष्ठ एक H1 टैग की आवश्यकता है और उस H1 टैग को आपका कीवर्ड होना चाहिए जैसे <h1> कीवर्ड </ h1>। 

3. Title 

जैसे प्रत्येक page में एक H1 टैग होता है, उन्हें एक title के साथ-साथ एक meta description भी मिलता है। Title Google में इस तरह दिखाई देता है:

आपका title 10 और 70 words के बीच होना चाहिए। शब्द नहीं। इसे अपेक्षाकृत संक्षिप्त रखें, page का focus keyword शामिल करें आपका title अच्छा होना चाहिए जिसे कोई भी user यूज़ पढ़ सके और click करें 


4. Meta Description 

आपको आर्टिकल मे Meta Description का अच्छी तरह प्रयोग करना हैं ये आर्टिकल के बारे मे सारी जानकारी देता हैं की लोग search engine मे ज्यादा सवाल सर्च करते हैं आपको meta description मे अपने आर्टिकल से related heading, subheading को यूज़ करना चाहिए ताकि आर्टिकल rank हो 

आपका Meta Description, एक लंबा स्पष्टीकरण है कि आपका आर्टिकल किस बारे में है। यह 160-300 अक्षरों के बीच होना चाहिए। आपके meta description में उस आर्टिकल के लिए अपना लक्ष्य कीवर्ड या कीवर्ड शामिल होना चाहिए।

* Note :- आप देख सकते हैं कि कभी-कभी subheading होते हैं जो search results के साथ आते हैं। इन्हें site link  कहा जाता है 


5. Alt Tag 

कभी-कभी लोग इन सोच को छोड़ देते हैं कि वे उतने महत्वपूर्ण नहीं हैं। फिर से विचार करना। भले ही लोग भौतिक रूप से आपकी साइट पर image देख सकें और जान सकें कि वे क्या हैं, search engine नहीं कर सकते। search engine image को read नहीं कर सकते इसलिए आर्टिकल मे Alt Tag का प्रयोग किया जाता हैं यदि आप कीवर्ड के साथ अपनी images का वर्णन करते हैं, तो search engines आसानी से बता पाएंगे कि आपकी image किस बारे में हैं। अपनी image के alt tag में अपने कीवर्ड का अधिक उपयोग न करें। image का उपयोग  post मे जरुर करें जिससे ज्यादा traffic प्राप्त कर सके 


6. Content 

Quality content महत्वपूर्ण है और आपकी rank में भूमिका निभाती है। यहाँ महत्वपूर्ण शब्द quality है। कि एक वेबसाइट जिसमें बहुत सारी content होती है और दूसरी वेबसाइट में कम content होती है लेकिन यह high quality वाली होती है। search engine अंततः इस तथ्य को उठाएंगे कि पहली वेबसाइट उप सममूल्य content का उत्पादन कर रही है। यह users को यह साइट दिखाना नहीं चाहता है इसके बजाय यह अन्य वेबसाइट की content के माध्यम से crawl करेगा और देखेगा कि यह quality  keyword  है लेकिन फिर भी वेबसाइट visitors का ध्यान आकर्षित करता है।

जिस तरह से सर्च इंजन यह तय करता है कि user को कंटेंट बाउंस और रेजिडेंट टाइम के साथ है। एक bounce तब होता है जब कोई user किसी web page पर visit करता है और तय करता है कि content उनके लिए उपयोगी नहीं है और back button को हिट करता है। user आपकी वेबसाइट पर कितना समय बिताता है।

7. Page load speed ( website speed )

कोई भी visitor अधिक से अधिक 5-6 मिनट तक ही blog पर रहता हैं अगर आपकी site loading मे ज्यादा समय लेती हैं तो इतने मे visitor दूसरी site पर चला जाता हैं 

इसलिए आपको website speed को fast करने की आवश्यकता हैं 

Website speed fast करने के कुछ tips :- 

1. Plugins यूज़ करें 
2. Image का साइज कम से कम रखें 
3. Seo friendly template यूज़ करे


8. Post का url ( permalink ) 
 
Post का url हमेशा short रखे उसमे बिना मलतब के word यूज़ ना करें focus keyword का प्रयोग करें 


9. Internal link 

Article मे internal link का यूज़ एक post को दूसरे post से link करने के लिए करते हैं यह post को rank करने का अच्छा तरीका हैं 

ये कुछ technique थी जिनका वेबसाइट मे on page seo के लिए उपयोग किया जाता हैं 


Off page seo 


Off page seo  में blogging , backlink और social promotion शामिल हैं। seo के लिए महत्वपूर्ण है। यह आपकी साइट को crawl करने के लिए search engine के लिए अधिक high quality वाली content देता है। यदि आप जानते हैं कि आप क्या कर रहे हैं तो यह आपकी ranking को बढ़ाने के साथ ही साइट visitors की संख्या बढ़ा सकता है। 
 

Off page SEO का काम website के बाहर ही होता हैं जैसे blog का social promotion, guest post, popular site मे comment करके link करना 

Social media network पर अपने site एक अच्छा page बनाइये और आर्टिकल को share करें जिससे visitors बढ़ने के chances ज्यादा होते हैं 


SEO में rank करने के लिए ब्लॉग लिखना keyword research और quality content  शामिल है। आपके keyword को आपकी कॉपी में दिखाई देना और अपने विषय के लिए समझ बनाने की आवश्यकता होगी। यदि आप SEO के प्रकारों के बारे में एक ब्लॉग लिखते हैं, तो आपके ब्लॉग को उस विषय के चारों ओर लिखा जाना चाहिए, जो user को विभिन्न प्रकार के SEO दिखा रहा है, वे क्या हैं और कैसे काम करते हैं। जब तक आप अपने विषय पर टिकते हैं और कीवर्ड पर ध्यान केंद्रित करते हैं और quality content का उत्पादन करते रहते हैं, तो आपके पास एक ऐसा ब्लॉग होगा जो user को लुभाता है और उन्हें अधिक समय तक वापस रखता है।


Off page SEO कैसे करें 


1. Social media 

आपके website का एक Attractive page बनाकर उस पर अपने daily base पर article की link share करना जिससे visitors के आने के chances बढ़ते हैं जैसे - facebook, instragram, google + आदि 


2. Guest post 

अपने same niche से related किसी भी popular site मे जाकर guest post कर सकते हैं जिसे do follow link के नाम से जाना जाता हैं 


3. Comment 

अपने blog से related किसी भी अच्छे से blog मे जाकर comment कर सकते हैं और अपने किसी post या blog की link को add कर सकते हो 


4. Question & answer site 

किसी भी Question & answer वाली site मे जाकर आप आर्टिकल related answer कर सकते हैं या फिर question कर link add कर सकते हैं 


5. Backlink 

 आप किसी भी popular site मे जाकर वहां एक account बना सकते हैं और उसमे अपने किसी आर्टिकल की link को share कर सकते हैं उसे backlink के नाम से जाना जाता हैं जैसे medium.com


6. Search Engine submission 

अपनी website को सही तरीके से search engine मे शामिल करना 


Local SEO


Local seo, seo के प्रकारों में से एक है जिसका प्रयोग करके आप अपनी local ranking बढ़ाने के लिए लाभ उठा सकते हैं।

यह एक local pack है। जब आप किसी उत्पाद या सेवा को search हैं तो Google आपके पास local विकल्प दिखाता है। इसमें आपकी  वेबसाइट को अच्छी तरह से optimize किया जाता हैं जिससे local audience के लिए बेहतर rank करें आप चाहते हैं कि आपका व्यवसाय शीर्ष तीन स्थानों में दिखाई दे। आप अपनी साइट का optimize करके ऐसा कर सकते हैं 

लेकिन Google पर अच्छी समीक्षा प्राप्त कर सकते हैं। अधिक समीक्षा संभावित user और search engines के लिए बेहतर है। 

यदि आप local level पर रैंक करना चाहते हैं (या यदि आप सभी rank करना चाहते हैं) तो आपके पास Google my business account भी होना चाहिए। यह users और search engines को दिखाता है जहाँ आप स्थित हैं।  आपकी business जानकारी आपके Google my business सहित सभी प्लेटफार्मों पर समान है। ऐसा करने से आपकी ranking बढ़ने की संभावना बढ़ जाएगी। जब आप GMB ( google my business ) पर अपने व्यवसाय का दावा कर रहे हैं, तो आपको Google द्वारा पूछी गई सभी जानकारी को भी भरना होगा।

अपनी local seo ranking को बढ़ावा देने का एक और तरीका है कि आप हर जगह online सूचीबद्ध हो सकें। आप अपने व्यवसाय को वेब पर सूचीबद्ध करने के लिए Yext जैसी साइटों का उपयोग कर सकते हैं।  है।


SEO मार्केटिंग के लिए क्यों जरुरी हैं 


SEO digital marketing  का एक मूलभूत हिस्सा है क्योंकि लोग हर साल खरबों search का संचालन करते हैं, अक्सर Commercial इरादों के साथ उत्पादों और सेवाओं के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए। search अक्सर brand और अन्य marketing channels के पूरक के लिए डिजिटल ट्रैफ़िक का first source है। आपकी competative की तुलना में search results में अधिक दृश्यता और ranking आपके नीचे की रेखा पर content प्रभाव डाल सकती है।


हालाँकि, search results पिछले कुछ वर्षों में users को अधिक प्रत्यक्ष उत्तर और जानकारी देने के लिए विकसित हो रहे हैं, जो users को अन्य वेबसाइटों पर जाने के बजाय परिणाम पृष्ठ पर रखने की अधिक संभावना है।


Search results में best results और नॉलेज पैनल्स जैसी विशेषताएं दृश्यता बढ़ा सकती हैं और users को परिणामों में सीधे आपकी कंपनी के बारे में अधिक जानकारी प्रदान कर सकती हैं।


SEO Techniques ( white Hat SEO vs Black Hat SEO )



इस topic में, हम white hat seo और black hat seo के बीच के अंतरों के साथ-साथ प्रत्येक में शामिल tips और कुछ example को समझेगे


White hat SEO क्या है?


सबसे पहले, "white hat " SEO शब्द पर एक नज़र डालते हैं।

संक्षेप में, यह किसी site  को Customized करने के सही, ethical तरीके को संदर्भित करता है।


 White Hat Seo की strategy ( रणनीति )


1. यह search engine guidelines को follow करता है

White hat seo, Google के webmaster guidelines को follow करता है।

ये वे rule हैं जो Google ने किसी site को Customized करने के उचित तरीके को परिभाषित करने के लिए निर्धारित किए हैं।

और जब वे "नैतिक" seo strategy की तरह दिखते हैं, तो वे थोड़े विस्तार में जाते हैं, वे अनिवार्य रूप से एक सरल विचार के साथ अभिव्यक्त हो सकते हैं: हेरफेर नहीं करना चाहिए।

इसलिए, यदि आप ranking में हेरफेर करने का प्रयास नहीं कर रहे हैं या Google के एल्गोरिथयाम को धोखा नहीं दे रहे हैं, तो आप संभवतः उनके guidelines का पालन कर रहे हैं और white hat seo का उपयोग कर रहे हैं।


2. यह एक human audience पर केंद्रित है

White hat seo में वे परिवर्तन करना शामिल हैं जो किसी site के visitors के लिए फायदेमंद होते हैं।

और जब आप समझते हैं कि Google की सर्वोच्च प्राथमिकता अपने users को सर्वोत्तम संभव results प्रदान करना है, तो यह समझ में आता है कि यह seo करने के लिए "सही" तरीके का एक अनिवार्य घटक है।

 सबसे प्रभावी seo strategy में से कई पहले से ही ऐसे कदम उठाते हैं जो अनुभव को बेहतर बनाते हैं जो एक site अपने visitors को प्रदान करती है।

High quality content publish करने और page load time में सुधार करने जैसी strategy users  को किसी site से मिलने वाले value में सुधार करती है, और जिस आसानी से वे इसे नेविगेट कर सकते हैं 


3. यह एक long term view लेता है

ऐसी strategy जो Google के guidelines को follow करती हैं और एक सकारात्मक users अनुभव बनाती हैं, वे अक्सर black hat विधियों की तुलना में अधिक समय और कार्य-गहन होती हैं।

इसका मतलब है कि आपको जो results चाहिए, उसे देखने में समय लगेगा।

लेकिन दूसरी तरफ, white hat seo का भी अधिक fixed प्रभाव है। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब आप उन strategy  का उपयोग करते हैं जिन्हें आपके समग्र साइट अनुभव को बेहतर बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है, तो आप अपने focus keyword के लिए fix ranking प्राप्त कर सकते हैं।

 इसमें ऐसी content का निवेश करना शामिल है जो आने वाले वर्षों के लिए result उत्पन्न कर सकती है, और उन tips का उपयोग करके जो आपको Google से results के लिए जोखिम में नहीं डालते हैं, white hat अधिक long term view  है।


Black Hat SEO क्या है?


Black hat seo अनिवार्य रूप से white hat seo के बिल्कुल विपरीत है।


Black hat seo strategy 


1. यह search engine guidelines का उल्लंघन करता है

ब्लैक हैट strategy Google के guidelines का उल्लंघन करती है, और कई मामलों में, इन guidelines में सीधे संदर्भित हैं, क्योंकि आपको उन प्रथाओं का उपयोग नहीं करना चाहिए।


2. यह Manipulative strategy पर निर्भर करता है

जबकि white hat seo  में user experience को बेहतर बनाने के तरीके शामिल हैं, black hat seo ranking में सुधार के लिए Google के algorithm में हेरफेर करने पर निर्भर करता है।

इसे सीधे शब्दों में कहें, अगर Google को यह सोचने के लिए एक strategy डिज़ाइन की गई है कि एक site user  को वास्तव में की तुलना में अधिक value प्रदान करती है, तो यह black hat seo  है।


3. यह "quick wins" पर केंद्रित है

Black hat seo में शामिल कई strategy Google के algorithm में खामियों का फायदा उठाने पर केंद्रित हैं जो बहुत काम के बिना ranking  में सुधार ला सकती हैं।

और जब इनमें से कुछ रणनीति परिणाम दे सकती है, तो वे लगभग हमेशा अल्पकालिक होते हैं।

क्योंकि Google searchers को सर्वोत्तम परिणाम प्रदान करने के लिए अपने एल्गोरिथ्म में लगातार सुधार कर रहा है, और साइट मालिकों को रोकने के लिए जो अच्छी साइट को अच्छी तरह से रैंकिंग प्रदान नहीं करते हैं।

इसका मतलब यह है कि ब्लैक हैट स्ट्रैटेजी का उपयोग करने वाली साइटों को अपनी रैंकिंग खोने के लिए हर बार एक नया एल्गोरिदम अपडेट करने का जोखिम होता है - यह white hat seo  की तुलना में बहुत अधिक अल्पकालिक दृष्टिकोण बनाता है।


White hat SEO vs Black hat SEO : क्या अंतर है?


इन दो तकनीक के बीच सबसे बड़ा अंतर यह है कि white hat seo Google के guidelines का पालन करता है और user के experience में सुधार करता है, जबकि black hat seo  उन guidelines का उल्लंघन करता है और आमतौर पर human audience के लिए पूरी उपेक्षा के साथ किया जाता है।

Example 

यह देखते हुए कि white hat और black hat seo के पीछे मुख्य लक्ष्य बहुत अलग हैं, इसमें कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि इसमें शामिल विशिष्ट रणनीति में बहुत कम ओवरलैप है।


White hat seo 


Google के webmaster guidelines किसी साइट को Customized करते समय अनुसरण करने के लिए कुछ बुनियादी सिद्धांतों को रेखांकित करते हैं:


1. मुख्य रूप से users के लिए page बनाएं, न कि search engine के लिए।

2. अपने users के साथ cheat ना करें 

3. Search engine ranking में सुधार करने के इरादे से trick से बचें। 

4. अपनी website को अद्वितीय, quality या attractive बनाने के बारे में सोचें। अपनी website को अपने क्षेत्र के अन्य लोगों से अलग करें।

5. Google यह भी बताता है कि साइट के मालिक जो "मूल सिद्धांतों की भावना" को बरकरार रखते हैं, वे धोखेबाज़ प्रथाओं का उपयोग करने वालों की तुलना में बेहतर रैंकिंग देखेंगे।

6. जब तक आप अपने visitors को ध्यान में रखते हैं जब तक आप अपनी साइट पर काम करते हैं और उन्हें एक बेहतर ब्राउज़िंग अनुभव प्रदान करने के लक्ष्य के साथ बदलाव करते हैं, तो आप आश्वस्त रह सकते हैं कि आपकी seo strategy  Google के guidelines के अनुरूप है।

इसका मतलब यह है कि high quality , helping content , fast page speed , user experience को बेहतर बनाने और mobile friendly की दिशा में काम करने जैसी strategy सभी को white hat seo माना जाता है - और ये बदलाव के प्रकार हैं जो आपकी ranking पर एक fixed , positive प्रभाव डालेंगे। ।


Black hat seo 


जबकि Google आपके द्वारा उपयोग की जाने वाली रणनीतियों के प्रकारों के लिए अनुशंसाएँ थोड़ी सामान्य हैं, वे उन रणनीतियों के बारे में अधिक सीधे हैं जिन्हें आप उपयोग नहीं कर रहे हैं।

वास्तव में, वे विशेष रूप से कहते हैं कि निम्नलिखित practices के परिणाम हो सकते हैं:


1. ऑटोमेटिकली जेनेरेटेड कंटेंट 

2. Link schemes में participate करना 

3. कम या कोई ओरिजिनल content वाले page बनाना

4. Cloaking 

5. Hidden text या link 

6. Enough वैल्यू add किये बिना affiliate programs में भाग लेना

7. अप्रासंगिक कीवर्ड वाले पृष्ठ लोड हो रहे हैं

8. समृद्ध स्निपेट मार्कअप का दुरुपयोग

9. Google को ऑटोमेटेड क्वेरी भेजना

यदि आप इनमें से किसी भी रणनीति का उपयोग कर रहे हैं, तो आप black hat seo कर रहे हैं।



SEO नए blogger के लिए 


आप भी ब्लॉगिंग मे नए हैं तो आपने SEO के बारे मे जरूर सुना ही होगा और अगर नहीं तो हमारी इस post के माध्यम से आप SEO के बारे मे step by step सारी जानकारी पा सकते हो 

आप आर्टिकल लिखते हो खूब मेहनत करते हो फिर भी आपको अच्छा traffic नहीं मिलता हैं इससे ज्यादातर blogger बहुत परेशान हैं आपके इस परेशानी का हल SEO ही हैं 

SEO के बारे मे पहले सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करो फिर अपने website मे इसका सही से तरीके से इस्तेमाल करो 

keyword research टूल के माध्यम से अच्छे long tail keyword का चयन करो, Tilte, alt tag, meta description, permalink इनका सही तरीके से आर्टिकल मे प्रयोग करो 

Site का  social media पर page बनाओ,आर्टिकल की  link share करो, popular website की post पर comment करो, guest post करो, backlink बनाओ 

इन सब का बढ़िया तरीके का प्रयोग कर अपने blog को optimize करो आपको तुरंत नहीं तो थोड़े समय बाद results जरूर मिलेगा 

Blog पर visitors की संख्या बढ़ेगी और आप एक अच्छा traffic generate कर सकते हैं seo के द्वारा ये सब possible हैं 

नए blogger के लिए खास आप website मे seo करें मेहनत करें results बहुत अच्छा मिलेगा 


2021 मे SEO Trends 


1.  Artificial Intelligence SEO में एक बड़ी भूमिका निभाएगा

2. Voice search सर्च इम्पैक्ट्स को प्रभावित करेगा

3. Mobile friendly search ranking को प्रभावित करेगा

4. वह content जो Google EAT  सिद्धांत को पूरा करेगी जो high ranking देगी

5. Long form content  SERPs को बेहतर बनाने में मदद करेगा

6. एक प्रभावी SEO रणनीति वीडियो को शामिल करने की आवश्यकता होगी

7. Image Optimization search में एक बड़ी भूमिका निभाएगा

8.  शब्दार्थ related keyword पर अधिक महत्व होगा

9. Search listings seo strategies में एक बड़ी भूमिका निभाएगी

10. यदि आप ranking में आगे रहना चाहते हैं तो content और  Analytics आपकी  प्राथमिकता बनना चाहिए


आज आपने क्या सीखा 

इस article को अच्छे से पढ़ने के बाद अब आप समझ गए होंगे की आखिर SEO क्या हैं और search engine optimization कैसे करते हैं 

अगर आप भी blog मे traffic बढ़ाना चाहते हो तो आपको भी SEO करना बहुत ही जरुरी हैं जिसकी सम्पूर्ण जानकारी इस post में उपलब्ध है  

 daily base पर आर्टिकल लिखें हर रोज नया सीखने की कोशिश करें 


उम्मीद करता हूँ ये article आपको पसंद आया होगा कैसा लगा ? नीचे कमेंट करके जरुर बताइए अगर आपके मन में अभी भी कोई सवाल हो तो हमे बताइए 


अगर इस लेख में कोई कमी हो तो या कोई सुझाव देना चाहते हो तो जरुर दीजिये 


इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ, social media पर जरुर शेयर कीजिए 


धन्यवाद 


Share with your friends ❤






Post a Comment

Previous Post Next Post